प्रधानमंत्री आज जारी करेंगे किसान सम्मान निधि की अगली (7वी) किस्त

Spread the love

नई दिल्ली, कैलाश कृपा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की आज अगली किस्त जारी करेंगे। नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 9 करोड़ लाभार्थी किसान परिवार के खाते में किसान सम्मान निधि की अगली (7वी) किस्त 18000 हजार से अधिक की राशि अंतरित करेंगे।

प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम के दौरान छह राज्यों के किसानों से संवाद भी करेंगे। यहाँ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि और किसानों के कल्याण के लिए अन्य योजनाओं के बारे में अपने अनुभव साझा करेंगे । इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी उपस्थित रहेंगे।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को प्रति वर्ष 6000 रूपए का लाभ मिलता है। यह राशि 4 महीने के अंतराल पर दो 2000 रूपए की तीन किस्तों में लाभार्थियों के बैंक खाते में जाती है।

कृषि मंत्री ने कार्यक्रम के बारे में बताया कि कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की जयंती सुशासन दिवस के रूप में मनाई जाती है, उन्होंने कहा कि मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद सुशासन जीवन यापन में आसानी और पारदर्शिता को बढ़ावा देने के कई कदम उठाए गए हैं।

प्रत्यक्ष लाभ अंतरण डीबीटी सुशासन और पारदर्शिता की महत्वपूर्ण योजना है। तोमर ने कहा पहले सरकार के भेजे 100 रूपए में से केवल 15 रूपए गांव में पहुंचते थे लेकिन मोदी सरकार डीबीटी के माध्यम से लोगों को सीधे 100 % भेजने में सफल रही है।

मोदी गुजरात में भारतीय जनता पार्टी अटल बिहारी वाजपेई की जयंती सुशासन दिवस के रूप में मना रही है। भाजपा प्रवक्ता भरत पंड्या ने कहा कि सरकार के साथ मिलकर 248 किसान ब्लॉक में कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है। इसके अलावा प्रधानमंत्री किसानों के खातों में 18000 करोड़ से अधिक भेजे जाने के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाया जाएगा।

गुरु तेग बहादुर को प्रधानमंत्री मोदी ने दी श्रद्धांजलि

गुजरात सरकार और प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण करने के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री और प्रदेश भाजपा के नेता इन कार्यक्रमों में शामिल है। इसके अलावा राज्यों के 248 ब्लॉक में किसान कल्याण कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं इसमें मुख्यमंत्री श्री विजय रुपाणी उपमुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सहित सभी वरिष्ठ नेता है।

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव में कल शाम को मोदी ने कहा कि भारत के पास विज्ञान प्रौद्योगिकी की और नवाचार की विरासत है और भारत को वैज्ञानिक शिक्षा का सर्वाधिक विश्वसनीय केंद्र बनाने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार चाहती है कि देश में वैज्ञानिक समुदाय वैश्विक प्रतिभाओं के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़े। नई शिक्षा नीति छोटी आयु से ही वैज्ञानिक सुविकसित करने में सहायक होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब हमारा ध्यान खर्चों के बजाय परिणामों पर और पाठ्य पुस्तकों से बढ़कर अनुसंधान तथा अनुप्रयोग पर केंद्रित हो गया है।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी का लाभ सभी तक पहुंचाने के लिए प्रोत्साहित किया और कहा कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी गरीब से गरीब व्यक्ति को इसके साथ जोड़ रहे हैं श्री मोदी ने कहा कि डिजिटल से भारत उच्च तकनीक के उद्भव और क्रांति का शक्ति बन गया है उन्होंने कहा कि डिजिटल टेक्नोलॉजी आज के समय में बहुत जरूरी है।

आज गांव में इंटरनेट यूजर्स की संख्या शहरों से ज्यादा है। गांव का गरीब किसान भी डिजिटल पेमेंट कर रहा है आज भारत की बड़ी आबादी ग्लोबल हाईटेक की ओर और बढ़ रहा है।

भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई को आज उनके जन्मदिन पर पुष्पांजलि अर्पित करने के लिए राज्य में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। प्रधानमंत्री कल वर्चुअल माध्यम से जम्मू कश्मीर के सभी निवासियों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत करेंगे। इससे केंद्र शासित प्रदेश के सभी लोगों और समुदायों को उत्कृष्टता और किफायती सेवाएं उपलब्ध होंगी और उनका वित्तीय जोखिम कम होगा।

गृह मंत्री अमित शाह और जम्मू कश्मीर के राज्यपाल इस अवसर पर इसमें मौजूद रहेंगे। इस योजना के तहत जम्मू कश्मीर के सभी निवासियों को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा, स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। प्रत्येक परिवारों को बीमा कवर भी मिलेगा से जिससे 15 लाख परिवारों को लाभ होगा। योजना का लाभ देश भर में कहीं भी किया जा सकेगा सूची में शामिल अस्पताल इसके तहत सेवा उपलब्ध कराएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *