अंतर्राष्ट्रीय व्यंग्य संकलन में उज्जैन के बारह व्यंग्यकार सम्मिलित

Spread the love

उज्जैन, कैलाश कृपा। व्यंग्य की उर्वरा भूमि कहे जाने वाले उज्जैन के बारह व्यंग्यकारों ने अंतर्राष्ट्रीय व्यंग्य संकलन में अपनी जगह बनाई है। 21वीं सदी के 251 अंतर्राष्ट्रीय श्रेष्ठ व्यंग्यकारों का संकलन इंडिया नेटबुक्स नोएडा द्वारा प्रकाशित किया जा रहा है। इसमें उज्जैन के व्यंग्यकार डॉ पिलकेन्द्र अरोरा, डॉ हरीशकुमार सिंह, रमेशचंद्र शर्मा, डॉ देवेंद्र जोशी, राजेंद्र नागर  ’निरंतर’, शांतिलाल जैन, राजेन्द्र देवधरे दर्पण, स्वामीनाथ पांडे, संदीप सृजन, मीरा जैन, कोमल वाधवानी प्रेरणा एवं कमलेश व्यास कमल का चयन हुआ है।

अंतर्राष्ट्रीय व्यंग्य संकलन में उज्जैन के बारह व्यंग्यकार सम्मिलित

संकलन का आवरण प्रख्यात कार्टूनिस्ट देवेन्द्र का है। मारीशस, अमेरिका, यूके, नेपाल, कनाडा, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया एवं दुबई के व्यंग्यकार भी इस संग्रह में शामिल किए गए हैं। इस संग्रह का संपादन डॉ लालित्य ललित एवं प्रो. राजेशकुमार ने किया है। डॉ हरीशकुमार सिंह ने बताया कि भारत से इस संकलन में 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के व्यंग्यकारों ने शिरकत की है। इनमें से सबसे अधिक व्यंग्य के पुरोधा हरिशंकर परसाई के राज्य मध्यप्रदेश (65) से हैं।

सेना में चयन होने पर प्रजापति समाज ने किया अभिनंदन

इसके बाद उत्तर प्रदेश (39), नई दिल्ली (32), राजस्थान (32), महाराष्ट्र (18), छत्तीसगढ़ (12), हिमाचल प्रदेश (8), बिहार (6), हरियाणा (4), चंडीगढ़ (3), झारखंड (4), उत्तराखंड (4), कर्नाटक (4), पंजाब (2), पश्चिम बंगाल (2), तेलंगाना (2), तमिलनाडु (1), गोवा (1) और  जम्मू-कश्मीर (1) से सम्मिलित हैं। अगर स्त्री और पुरुष लेखकों की बात करें तो इसमें 51 व्यंग्य लेखिकाएँ शामिल हुई हैं।

इस बहु-प्रतीक्षित व्यंग्य संचयन में डॉ सूर्यबाला, हरि जोशी, हरीश नवल, सुरेश कांत, सूरज प्रकाश, प्रमोद ताम्बट, जवाहर चौधरी, अंजनी चौहान, अनुराग वाजपेयी, अरविंद तिवारी, विनोद साव, श्याम सखा श्याम, रमेश सैनी, सुधाकर अदीब, स्नेहलता पाठक, स्वाति श्वेता, सुनीता शानू शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *