गगनयान मिशन के लिए इसरो करेगा ग्रीन प्रोपल्शन का इस्तेमाल

Spread the love

चेन्नई, कैलाश कृपा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो अपने महत्वकांक्षी गगनयान मिशन के लिए तैयार हैं। आने वाले समय में इसके लिए वह पूरी तैयारी करने में लग गया है। गगनयान मिशन में भारत मानव को अंतरिक्ष में भेजने के लिए कई पहलू पर ध्यान रख रहा है। इसरो द्वारा ग्रीन प्रोपल्शन के जरिए भारत को प्रदूषण मुक्त लांचिंग के प्रयास करने का कोशिश करेगा। इसरो के चेयरमैन ने जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा कड़ी मेहनत की गई है।

बाबा महाकाल के मंदिर पर मिली 10वी से 11वीं शताब्दी की शिलालेख

इसरो के चेयरमैन शिवम ने कहा है कि वर्तमान समय में नई टेक्नोलॉजी का यूज करते हुए हमारे द्वारा लिथियम आयन बैटरी बनाई गई है, जिससे प्रदूषण मुक्त लांचिंग होने में एक नया कदम होगा। इस बैटरी का उपयोग इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल के लिए उपयुक्त है। पर्यावरण की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इसरो ने गगनयान मिशन के सफल तैयारी के लिए ग्रीन प्रोपल्सन की तैयारी कर रहा है। इसमें प्रयुक्त प्रदूषण मुक्त राकेट प्रणाली का इस्तेमाल किया जाएगा।

भविष्य में जितने भी सेटेलाइट लॉन्चिंग की जाएगी उसके लिए इनके द्वारा ग्रीन प्रोपल्सन इस्तेमाल की योजना बनाने पर ध्यान दिया गया है। इसरो के अनुसार सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने का यह वैज्ञानिकों के लिए सबसे अच्छा और सबसे विश्वसनीय जरिया है। इसमें बताया गया है कि यहां चार स्तरों वाला इंजन से भरा राकेट होता है इससे धक्का देकर सैटेलाइट को अंतरिक्ष की कक्षा में पहुंचाया जाता है और उसमें घूमने के लिए दाखिल किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *